आयुष्मान भारत योजना, पांच राज्यों को नहीं मिलेगा लाभ

भारत सरकार द्वारा शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना जो कि हर भारतीय गरीब परिवारों को स्वास्थ्य संबंधी सुविधाएं मुहैया करवाने के अंतर्गत शुरू की गई है। यह योजना लगभग देश के सभी राज्यों के लिए लागू की गई है। परंतु 5 राज्य इस योजना के अंतर्गत शामिल नहीं होंगे। क्योंकि वहां की सरकार इस स्कीम को “हाथी के दांत वाली योजना” से जोड़ कर देखा है। इन राज्यों में बड़े-बड़े राज्य शामिल हैं। दिल्ली, केरल, पंजाब, उड़ीसा और तेलंगाना। यह पांच राज्य आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत योजना का लाभ नहीं ले सकेंगे।

Telegram Group Join Now

अब जान लेते हैं आयुष्मान भारत योजना क्या है? तथा इससे क्या लाभ होगा और इसके लिए आवेदन कैसे करें ? यह संपूर्ण विवरण आज आप इस आर्टिकल में जानने वाले हैं अतः आवेदक दी गई जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

आयुष्मान भारत योजना का उद्देश्य तथा लाभ

भारत सरकार द्वारा Aayushmaan Bhaarat Yojana के अंतर्गत ₹500000 का हेल्थ  कवरेज मुहैया करवाने का ऐलान किया गया है। इससे देश के लगभग 10.74 करोड़ गरीब परिवार शामिल होकर लाभान्वित होंगे। इसके अंतर्गत पात्र परिवार को केस लेस सुविधा मुहैया करवाई जाएगी। अर्थात आवेदक बिना किसी नगदी के अस्पताल में इलाज करवा सकेंगे। सरकार द्वारा सीधे अस्पताल को लगे खर्च की राशि दी जाएगी। हाल ही में इस योजना का नाम आयुष्मान भारत योजना से बदलकर “प्रधानमंत्री जन आरोग्य अभियान” रखा गया है, इसकेअंतर्गत अस्पताल में भर्ती होने पर खर्च में कमी आएगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा इस योजना को विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना बताया गया है। इस योजना के अंतर्गत देश के 8.03 करोड़ और शहरों में 2.33 करोड़ परिवार तथा तकरीबन 50 करोड़ लोगों को लाभ मिलेगा। इस योजना से जुड़े हुए सूचीबद्ध सरकारी तथा निजी हॉस्पिटल में भर्ती हो सकेंगे. और अपना इलाज करवा सकेंगे।

  • आयुष्मान भारत स्कीम से भारत का प्रत्येक नागरिक जुड़ सकता है
  •  इस योजना से देशवासियों को स्वास्थ्य संबंधी सेवाएं निशुल्क उपलब्ध कराई जाएगी।
  •  सूचीबद्ध अस्पताल में भर्ती होने पर बिना नगदी के उपचार करा सकेंगे

यहाँ भी पढ़े- प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना 2022 | ₹6000 से बढ़ाकर ₹8000

आयुष्मान भारत योजना के लिए आवश्यक पात्रता

SECC के डाटाबेस में वंचना के आधार पर पात्रता तय की जा रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में वंचना की श्रेणियों (डी1,डी2,डी3,डी4,डी5, डी6 और डी7) के आधार पर लाभार्थियों की पहचान की गयी है। शहरी क्षेत्रों में 11 पेशवेर मापदंड पात्रता तय करेंगे। तथा जिन राज्यों में पहले से ही राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना लागू है वह सभी परिवार जिस योजना के अंतर्गत पात्र माने जाएंगे। इस योजना से दिल्ली, केरल, पंजाब, तेलंगाना  तथा उड़ीसा को छोड़कर सभी 27 राज्य शामिल है।

आयुष्मान भारत योजना से देश के सरकारी तथा निजी 20000 हॉस्पिटल जोड़े जाएंगे।

 इस योजना में अभी तक 13000 हॉस्पिटल जोड़े जा चुके हैं।

आयुष्मान भारत योजना से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

आयुष्मान भारत योजना के बारे अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.