सबसे ज्यादा सैलरी वाली प्राइवेट जॉब्स, Highest paying jobs in private sector

दोस्तो, हर किसी की सपना होता हैं कि उसे अधिक सैलरी वाली नौकरी (jobs) मिले। सभी सोचते है कि केवल सरकारी नौकरी में ही ज्याता वेतन मिलता है। लेकिन ऐसा नही है प्राइवेट सेक्टर में भी ऐसी कई जॉब हैं वहां बहुत ज्यादा सैलरी मिलती है। अगर आप भी जानना चाहते है कि सबसे ज्याता वेतन (salary) वाली जॉब कौनसी है, या किस नौकरी में सबसे ज्यादा पैसे मिलते है, तो इस आर्टिकल में हम आपको ऐसी ही प्राइवेट जॉब के बारे में बताने वाले हैं जिसमें सबसे ज्यादा वेतन मिलता है।

सबसे ज्यादा सैलरी वाली प्राइवेट जॉब्स, Highest paying jobs in private sector
Photo | tv9hindi.com

सॉफ्टवेयर इंजिनियर (Software Engineer)

सॉफ्टवेयर इंजिनियर का काम भी एक प्रकार से कंप्यूटर इंजिनियर की तरह ही होता है। यह भी IT का काम करता है। दोस्तो, यह बहुत ही महत्वपूर्ण पद होता है। भारत के सॉफ्टवेयर इंजिनियर देश और विदेश में काम कर रहे है। एक सॉफ्टवेयर इंजिनियर की शुरुआती सैलरी महीना 50 से 60 हजार रुपये महीना होती है। और एक्सपीरियंस के साथ बढ़ती जाती है।

साइबर सिक्योरिटी प्रोफेशनल

साइबर सिक्योरिटी प्रोफेशनल सिक्योर नेटवर्क को सोलुशन को डिज़ाइन और इम्पलीमेंट करने का  काम करता हैं। यह हैकर्स और साइबर अटैक से नेटवर्क को बचा कर रखता है। इसके अलावा साइबर सिक्योरिटी प्रोफेशनल सिस्टम की टेस्टिंग और मोनिटरिंग भी करते है। जितने भी ऑनलाइन बिजनेस है या कोई भी बिजनेस ऑनलाइन उपल्बध है उसे साइबर सिक्योरिटी प्रोफेशनल की जरुरत होती है। फिलहाल में साइबर सिक्योरिटी प्रोफेशनल 30 से 40 लाख रुपये कमाता है।

मशीन लर्निंग प्रोफेशनल

मशीन लर्निंग आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का ही एक हिस्सा है जो सिस्टम को अपने आप सीखने और अपने आप को उस हिसाब से बदलने के लिए डिज़ाइन किया जाता है। यह प्रोग्रामर्स द्वारा कॉडिंग किये बिना ही सिस्टम को अपने आप प्रोग्राम को पढ़ना सीखा सकती है। मशीन लर्निंग प्रोफेशनल की कंपनीयों को लिए बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण साबित हुए है। इसकी शुराआती सैलरी ही पांच से सात लाख रुपये प्रतिवर्ष होती हैं।

क्लाउड कंप्यूटिंग इंजिनियर

क्लाउड कंप्यूटिंग सुनने में अजीब लग रहा होगा, क्योकि यह कॉमन फिल्ड नही है। क्लाउड कंप्यूटिंग का सीधा सा मतलब ये है कि जब इंटरनेट के माध्यम से कोई सर्विस प्रोवाइड करता हैं तो उसे क्लाउड कंप्यूटिंग करते है। कंपनियों में क्लाउड कंप्यटिंग, क्लाउड इंफ्रास्ट्रक्चर, क्लाउड सॉफ्टवेयर इंजिनियर की मांग बहुत हैं। इसमें शुरुआती सैलरी करीब 7 से 8 लाख रुपये प्रतिवर्ष होती है।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस प्रोफेशनल

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को आसान भाषा में ऐसे समझ समझ सकते है कि कंप्यूटर रोबोट या किसी चिप की सहायता से अपने टारगेट से रिलेटेड डेटा स्टोर किया जाता है। और इस डेटा से सॉफ्टवेयर तैयार किए जाते है। और उनको जरुरत के हिसाब से उपयोग किए जाते है। यह सारा काम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस स्पेशलिस्ट की मदद से संभव हो पाता हैं। भारत में भी इन प्रोफेशनल को अच्छी सैलेरी दी जाती हैं। इनको शुरुआत में 8 से 10 लाख रुपये सैलरी मिल जाती है।

डॉक्टर या सर्जन (Doctor or Surgeon)

आपको पता है कि चिकित्सा और मेडिकल के क्षेत्र में सबसे ज्याता करियर के ऑप्शन है। यही वजह है कि डॉक्टर और सर्जन को हॉस्पिटल सबसे ज्यादा सैलरी ऑफर करते है। सर्जन प्रोफेशन और डॉक्टर बहुत ज्यादा पैसे कमाते हैं। क्योकि इनकी सैलरी तो ज्यादा होती है। डॉक्टर की शुरुआत में ही महीने की 70 से 80 हजार रुपये सैलरी होती है, और एक्सपीरियंस के साथ बढ़ती जाती है। डॉक्टर सरकारी जॉब भी कर सकता है। लेकिन इसकी डिमांड प्राइवेट होस्पिटल में भी अधिक होती है। जहां पर भारी वेतन में अपनी सेवाए देते है। साथ ही डॉक्टर खुद का हॉस्पिटल शुरु करके भी पैसे छापते है। लेकिन एक हॉस्पिटल में कई डॉक्टर अपनी सेवाएं देते हैं इसलिए अलग-अलग सर्जन को हायर किया जाता है।

डाटा साइंटिस्ट (Data Scientist)

डाटा साइंटिस्ट का पेशा भी अधिक सैलरी वाली जॉब में शामिल हैं। आज कई पड़ी कंपनीयों को डाटा साइंटिस्ट की जरुरत पड़ रही है। क्योकिं कंपनीयां अपनी परफॉरमेंस बढ़ा रही है, और इसके लिए डेटा एनालिसीस की जरुरत होती है। इसलिए संपनी डाटा साइंटिस्ट की मदद लेती है। एक डाटा साइंटिस्ट की शुरुआती सैलरी करीब सात से आठ लाख रुपये सालाना होती है।

इन्वेस्टमेंट बैंकर (Investment Banker)

कीसी भी कंपनी में इन्वेस्टमेंट बैंकरों का बड़ा रोल होता है। इसको भी अच्छा वेतन मिलता हैं। इन्वेस्टमेंट बैंकर आर्थिक लेन-देन से जुड़े रिकॉर्ड का रख-रखाव, मॉडिफिकेशन, टेस्टिंग, डिवैलपमेंट, कंपनी कैपिटल, फंड, लोन, स्टॉक का काम करता है। वह कंपनी के क्लाइंट को लोन और इंवेस्ट कराने में हेल्प करता है। इस पर कंपनी की बड़ी जिम्मेदारी होती है। यही कारण हैं कि इनकी सैलरी इतनी हाई होती है। Investment Banker की शुरुआती सैलरी भी सालाना 9 से 10 लाख रुपये होती है।

कॉमर्सियल पायलट (Commercial Pilot)

पायलट के बारे में तो आप जानते होंगे। पायलट सुनते ही हमारे मन में एक अलग तरह का महसूस होता है। हवाई जहाज में उडने वाली फीलिंग। यह प्रोफेशन हमेशा से ज्यादा वेतन पाने वाला माना जाता है। पायलट को सैलरी के अलावा भी बहुत सारी सुविधा मिलता है। कॉमर्सियल पायलट की सालाना सैलरी 15 से 25 लाख रुपये के बीच होती है।

चार्टर्ड अकाउंटेंट (Charted Accountant)

चार्टर्ड अकाउंटेंट का मुख्य काम लेखाकार का काम होता है। आसान भाषा में समझे तो सीए कीसी कंपनी में हिसाब रखने का काम करता है। कॉमर्स के ज्यादातर छात्रों का सपना होता है सीए बनना। CA कॉर्पोरेट लिडरशिप के निर्णय लेने हेल्प करने के साथ ही नोकरी कर रहे हर लोगो का IT Return भरने का काम भी करता है। शुरुआत में ही सीए की सैलरी करीब 6 से 7 लाख रुपये महिना होती है।

मार्केटिंग पेशेवर

जब किसी बिजनेस की बात करते हैं तो मार्केटिंग की बात न हो, ऐसा हो नही सकता। बिजनेस के लिए मार्टेटिंग जितना महत्वपूर्ण है उतनी ही ज्यादा मांग मार्केटिंग के एक्सपर्ट लोगों की है। आज के समय में मार्केटिंग भी लगातार डिजीटर भी हो रहा रहा। जिससे मांग और बढ़ रही है। कंपनीयों को ऐसे पेशेवरो की तलाश रहती है। इस फिल्ड में शुरुआत में ही 5 से 6 लाख रुपये सालाना मिल जाते है।

खुद की मोबाइल शॉप कैसे शुरु करें? How To Start Mobile Shop Business

Tiffin Service के बिजनेस से हर महिने कमा सकते है लाखों, जानें कैसे शुरु करे टीफिन सेंटर

दोस्तो, आशा करता हूं कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए मददगार साबित होगी। अगर आपके मन में किसी प्रकार का कोई सवाल होतो हमें कमेंट करके पूछ सकते है। और अगर किसी प्रकार की जानकारी चाहिए तो कमेंट करके जरुर बताए।

Leave a Reply