नोटबुक (Notebook) बनाने का बिजनेस कैसे करें, How to start notebook making business

दोस्तो, हर इंसान अपना खुद का बिजनेस शुरु करना चाहता है, लेकिन बिजनेस कैसे शुरु करना है, इसके बारें में पूरी जानकारी नही होने की वजह से नही कर पाते। अगर आप भी अपना खुद का व्यावसाय शुरु करना चाहते है, तो आपके लिए एक बेस्ट बिजनेस आइडिया लेकर आया हूं। जिससे आप महिने के लाखों रुपये कमा सकते हैं। इस आर्टिकल में कागज से बनने वाले प्रोडक्ट के बारे में बताने वाले हैं। इसमें आप जान पाएंगे की नोटबुक (Notebook) बनाने का बिजनेस कैसे शुरु करे, नोटबुक कैसे बनाए, नोटबुक का कारोबार कैसे करे। इसके बाद आप अपना खुद का नोटबुक का बिजनेस शुरु कर पाएंग। तो चलिए शुरु करते है और इसके बारे में विस्तार से जानते है।

नोटबुक (Notebook) का बिजनेस क्यो करें  

आज के समय में पढ़ाई बहुत ही जरुरी हो गई है। पढ़ाई बिना नोटबुक के तो हो नही सकती। इसलिए मार्केट में हमेशा इसकी डिमांड बनी रहेगी। शिक्षा उद्योग के अलावा कार्यालयों में भी इसका उपयोंग बड़े पैमाने पर होता है। यह व्यापार कई सालों से चलता आ रहा हैं और आगे भी चलता ही रहेगा। इसलिए आप नोटबुक बनाकर मार्केट में सप्लाई कर सकते है, इससे लाखों रुपये की कमाई कर सकते है।

नोटबुक कितने प्रकार की होती है

नोटबुक का बिजनेस करने के इसके बारे में जानना बहुत जरुरी है ताकि Manufacturing स्टार्ट करने में किसी प्रकार की कोई समस्या न हो। जरुरत के अनुसार अलग-अलग साइज और प्रकार की Notebook बनाई जाती हैं। कुछ बिना लाइन की होती हैं, तो कुछ लाइन वाली, कुछ एक तरफ लाइन एक तरफ खाली पज वाली कॉपी होती है। वही साइज के अनुसार कुछ कम पेज की होती है, कुछ ज्यादा पेज की होती है। कुछ छोटी होती हैं, कुछ बड़ी होती है। इसमें मुख्य रुप से चार प्रकार की होता है।

  • स्पाइरल नोटबुक (Spiral Notebook)
  • कंपोजीशन नोटबुक (Composition Notebook)
  • बिजनेस नोटबुक (Business Notebook)
  • लैब और लाइंडिफिक नोटबुक

इसके अलवा भी कई प्रकार की कॉपी और डायरीयां बनाई जाती हैं। यह लोगों की जरुरत के अनुसार अलग-अलग प्रकार की बनाई जा सकती हैं।

नोटबुक (Notebook) का बिजनेस कैसे शुरु करें

किसी भी बिजनेस की शुरुआत करने से पहले हमे सबसे पहले उसके सेटअप के बारें में सोचना होता है, कि बिजनेस का सेटअप कहां लगाता हैं और उसके लिए किस-किस चीज की जरुरत पड़ने वाली हैं। तो हम भी सबसे पहले यही बात करते है कि नोटबुक (Notebook) का बिजनेस शुरु करने के लिए क्या-क्या जाहिए। तो नोटबुक बनाने के लिए निवेश, जमीन, मशीन, कर्मचारी, कच्चा माल की जरुरत पडेंगी। इसके साथ ही कंपनी को रजिस्टर करवाकार लाइसेंस लेना पड़ेगा। आगे सभी जरुरत की विस्तार से बात करते है।

जमीन

नोटबुक की Manufacturing के लिए सबसे पहले आपको यूनिट लगाने के लिए सही लोकेशन पर जमीन या बिल्डिंग की व्यवस्था करनी होगी। जहां पर नोटबुक को बनाया जा सके और आसानी से मार्केट में सप्लाई की जा सके। आप इसके लिए इंडस्ट्री एरिया में भी जमीन ले सकते हैं। व्यावसायी खुद की जमीन पर भी काम शुरु कर सकता है, जहां बिजली पानी की उचित व्यवस्था हो। और कर्मचारियों के आने में किसी प्रकार की असुविधा न हो।

लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन

दोस्तो, किसी भी बिजनेस को शुरु करने के लिए लाइसेंस लेना पड़ता हैं। बिना लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन के कंपनी शुरु नही कर सकते हैं। नोटबुक के Manufacturing के लिए प्रोप्राइटरशिप के तरह पंजीकरण करना सकते है। इसके अलावा उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन करना हैं ताकि MSME (Micro, Small & Medium Enterprises) के तौर पर पहचान दिला सके। इसके अलावा आपको बिल आदी बनाने के लिए जीएसटी रजिस्ट्रेशन भी करवाना होगा। वही आपको अपने बिजनेस का लेन-देन करने के लिए किसी भी बैंक में एक करेंट अकाउंट खुलवाना होगा।

मशीनरी और कच्चा माल

नोटबुक का बिजनेस में मुख्य रुप से मैन्युफैक्चरिंग का काम होता हैं, इसलिए मशीनरी और कच्चे माल की जरुरत पडेगी। मशीनरी तो एक बार ही खरीदनी है लोकिन आपको उत्पादन के अनुसार खरीदना पड़ेगा।

आपको नोटबुक को बनाने के लिए जिन मशीन की जरुरत पड़ेगा। वो इस प्रकार हैं:-

  • ऑफसेट प्रिंटिंग मशीन (Offset Printing Machine)
  • पेपस शीटर मशीन (Sheeter Machine)
  • पेपर फोल्डिंग मशीन  (Folding Machine)
  • पेपर कटिंग मशीन (Cutting Machine)
  • नोटबुक स्टेप्लींग मशीन (Stitching Machine)

मैन्युफैक्चरिंग में उपयोंग किया जाने वाला कच्चा माल इस प्रकार हैं:-

  • ब्लैक पेपर शीट्स
  • होर्ड बोर्ड्स
  • नोटबुक कवर
  • स्टेपल पिन, गोंद आदि
  • जुम्बो पेपर रोल
  • पेकिंग मटेरियल

नोटबुक (Notebook) का उत्पादन कैसे शुरु करें

अगर नोटबुक बनाने की बाद करे तो कच्चे माल के तौर पर हम जो पेज लाते है उनकी कटिंग होती है फिर उसके जिस साइज की नोटबुक बनानी होती है। उस साइज में पेज और कवर को एक साथ काटकर पिनअप किया जाता है। पेज को पिनअप करके उसपर कवर को गोंद से चिपकाया जाता हैं। इस प्रकार नोटबक बनकर तैयार हो जाती हैं।

सामान्य तौर पर कॉपी बनाने के लिए सबसे पहले ओफसेट मशीन पर शीट को प्रिंड किया जाता है। प्रिंटिंग मशीन में पेज पर लाइन आदि खीची जाती है। उसके बाद लाइन को हीट चैंबर में सुखाया जाता है। सुखाने के बाद पेज और कवर को नोटबुक के आकार में कट किया जाता है। फिर मशीन से फोल्ड किया जाता है। इसके बाद पिनअप किया जाता है। और लास्ट में पैकेजिंग की जाती है। पैकेजिंग करने के बाद मार्केट जहां भी सप्लाई करना होता है वहां किया जा सकता हैं।

मार्केटिंग कैसे करें

आज के समय में कोई भी बिजनेस करने के लिए मार्केटिंग करना बहुत जरुरी होता है। मार्केटिंग के बिना किसी को आपके प्रोडक्ट के बारे में जानकारी नही होगी। अलग-अलग संचार माध्यम से आपके बारे में टारगेट ग्रेहक को बार-बार बताना पड़ेगा। आपका टार्गेट ग्राहक स्टेशनरी स्टोर और बुक स्टोर है। आप सीधे बुक और स्टेशनरी मालिक से जाकर बात भी करनी पड़ेगा। इसके साथ ही आप मार्केट में अपनी खुद की बड़ी स्डेशनरी शॉप शुरु कर सकते है। जहां पर आप मार्केट से कम रेट पर नोटबुक बेच सकते है। इससे आपके दो फायदे होंगे। पहला तो आपका खुद की स्टेशनरी शॉप होगी और दुसरा आप मार्केट रेट से कम में बेचेंगे तो आपके ग्राहक बढ़ेंगे और इससे आपकी कंपनी का प्रचार प्रसार भी होगा।

खुद की मोबाइल शॉप कैसे शुरु करें? How To Start Mobile Shop Business

Tiffin Service के बिजनेस से हर महिने कमा सकते है लाखों, जानें कैसे शुरु करे टीफिन सेंटर

दोस्तो, आशा करता हूं कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए मददगार साबित होगी। अगर आपके मन में किसी प्रकार का कोई सवाल होतो हमें कमेंट करके पूछ सकते है। और अगर किसी प्रकार की जानकारी चाहिए तो कमेंट करके जरुर बताए।

Leave a Reply