कृषि इनपुट ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें, Krishi Input Anudan Yojana के लाभ

हेल्लो दोस्तों , अगर आप  किसान है और प्राकृतिक आपदाओं के चलते अपनी फसल को खराब होते हुए देखकर चिंतित हैं। तो आपके लिए खुशखबरी है। सरकार द्वारा “कृषि इनपुट योजना (Krishi Input Anudan Yojana)” के अंतर्गत किसानों को आपदा ग्रस्त होने की स्थिति में फसल का मुआवजा दिया जाता है। अगर आप की फसल बाढ़, अधिक वर्षा, ओलावृष्टि, तेज आंधी तूफान, भूकंप, आदि के चलते नष्ट हो जाती है। या फसल में नुकसान होता है। तो ऐसी स्थिति में सरकार द्वारा चलाई जा रही कृषि इनपुट योजना के अंतर्गत आप रजिस्ट्रेशन करके अपनी फसल का मुआवजा प्राप्त कर सकते हैं। 

Telegram Group Join Now

आइए जानते हैं कैसे किसान कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए ऑनलाइन  रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। इस लेख में आप कृषि इनपुट योजना से जुड़ी सभी जानकारी प्राप्त करने वाले हैं। अतः सभी किसान इस आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पढ़ें। 

Krishi Input Anudan Yojana Highlights 2022

योजना का नामकृषि इनपुट अनुदान योजना
विभाग द्वारा शुरू कृषि विभाग
लाभार्थी होंगे राज्य के सभी पंजीकृत किसान
योजना से लाभार्थी होंगे फसल क्षति, असमय वर्षा ,ओलावृष्टि भूस्खलन ,बाढ़, सूखा ग्रसित क्षेत्र होने पर राज्य सरकार द्वारा चयनित क्षेत्र में खेती करने वाले किसान ।
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन के माध्यम से
ऑफिसियल वेबसाइट अपने राज्य की कृषि विभाग की ऑफिसियल साईट 

यह भी पढ़े – Pradhan Mantri Krishi Sinchayee Yojana 2022 प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना ऑनलाइन आवेदन

कृषि इनपुट सब्सिडी योजना का उद्देश्य तथा लाभ

जैसा कि आप जानते हैं भारत के कई राज्य ऐसे हैं जहां पर आए दिन प्राकृतिक आपदाओं की वजह से फसलें खराब हो जाती है। ऐसी स्थिति में सरकार द्वारा किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करते हुए कृषि इनपुट सब्सिडी योजना शुरू की है। इस योजना के अंतर्गत किसानों को DBT के माध्यम से सरकार द्वारा फसलों के नुकसान की भरपाई  हेतु मुआवजा दिया जाता है।  

  • जिन किसानों की फसलों को प्राकृतिक आपदाओं से नुकसान हुआ है उन्हें हुए नुकसान की भरपाई के लिए आर्थिक मदद के तौर पर मुआवजा मुहैया करवाया जाता है। 
  • असिंचित क्षेत्र में किसानों को आपदा का सामना करना पड़ता है तो उन्हें 6800 प्रति हेक्टेयर मुआवजा दिया जाएगा। 
  • सिंचित क्षेत्र के किसानों को ₹13500 प्रति हेक्टेयर मुआवजा दिया जाएगा। 
  • अधिकतम 2 हेक्टेयर तक के लिए मुआवजा दिया जाएगा। 
  • न्यूनतम ₹1000 का अनुदान दिया जाएगा। 

कृषि इनपुट ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

  • आप जिस भी राज्य में निवास करते हैं उस राज्य के कृषि विभाग के ऑफिशियल पोर्टल पर लॉगिन करें। 
  •  होम पेज पर  “ सूखाग्रस्त प्रखंडों के लिए कृषि इनपुट सब्सिडी योजना” ऑप्शन दिखेगा उस पर क्लिक करें। 
  •  किसान आवेदन के लिए 13 अंकों की किसान पंजीकरण संख्या/ Farmer Registration Number भरे। 
  • किसानों को पंजीकरण विवरण के साथ साथ आवेदन शपथ पत्र यानी “डिक्लेरेशन” फॉर्म भी अपलोड करना होगा। 
  • किसान अधिकतम 2 हेक्टेयर जमीन पर ही सब्सिडी ले सकता है ।
  • किसान कि यहां तीन श्रेणी बनाई गई है  स्वयं, वास्तविक खेतिहर, स्वयं+वास्तविक खेतिहर। 
  • ऑप्शन पर क्लिक करें और भूमि संबंधित दस्तावेज तथा शपथ पत्र अपलोड करें। 
  • संपूर्ण विवरण को ध्यानपूर्वक दर्ज करते हुए फॉर्म सबमिट करें। 
  •  फॉर्म सबमिट करने पर किसानों को “पावती संख्या” दि जाती है। इस संख्या को सुरक्षित लिख कर रखें। ताकि भविष्य में आप अपने फॉर्म अर्थात आवेदन की स्थिति चेक कर सके। 
  • आवेदन करने के 20 दिन बाद आवेदन की स्थिति चेक कर सकते हैं। तथा कृषि विभाग द्वारा आवेदनकी स्वीकार तथा अस्वीकार होने की स्थिति बता दी जाती है। 
  •  और अस्वीकार होने की स्थिति में कृषि विभाग द्वारा कारण स्पष्ट किया जाएगा। कारण को ठीक कर दोबारा आवेदन कर सकते हैं।

FAQs Krishi Input Anudan Yojana 2022

Leave a Comment

Your email address will not be published.